July 25, 2021

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

जहरीली शराब पीने से 14 लोगो की मौत, तीन बीमार

पश्चिम चम्पारण/बेतिया :  जिला के नरकटियागंज विधानसभा और रामनगर विधानसभा क्षेत्र के देउरवा(लौरिया थाना), योगिया(रामनगर थाना) गांव में जहरीली शराब से हुई मौत की हृदय विदारक घटना के बाद भाकपा माले केंद्रीय कमिटी सदस्य सह सिकटा विधायक वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता पीड़ित व मृतकों के परिजनों से मिले। उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी के बावजूद प्रतिदिन  दर्जनों लोगों की मौत शराब पीने से हो रही है। विगत वर्ष फरवरी में लौरिया रामनगर थाना क्षेत्र में जहरीली शराब से कई लोगों की मौते हुई,

सरकारी संरक्षण में गांवों में वर्षों से शराब बेची जा रही हैं, लोग शराब पी रहे हैं। न सिर्फ इस गांव के लोग बल्कि बिहार के सभी गांवों मे सरकारी संरक्षण में शराब की बिक्री जारी है। उन्होंने उत्पाद व मद्य मंत्री सुनील कुमार से इस्तीफा देने की मांग करते हुए, सभी पिडित परिवार को दस लाख रुपए मुआवजा देने की मांग किया।

  • भाकपा माले ने मंत्री सुनील कुमार के इस्तीफा की मांग किया
  • बगहा-नरकटियागंज डीएसपी तथा संबंधित थानाध्यक्षो की बर्खास्तगी पर जोर
  • पीड़ित परिवारों को दस लाख मुआवजा दे सरकार :सुनील कुमार राव
  • सत्ता संरक्षण में चंद रुपए की लालचवश शराब तस्करी से जुड़े लोग जीवन से कर रहे खिलवाड़ : बीरेन्द्र प्रसाद गुप्ता
  • जहरीली शराब से मौत के विरुद्ध तीनों अनुमंडल मुख्यालय पर 21 july  तक आंदोलन का ऐलान

भाकपा माले नेता सुनील कुमार राव ने कहा कि शरीर बंदी मे “सिर्फ गरीबों को परेशान किया जा रहा है। शराबबंदी पूरी तरह से फेल हो चुकी है, थानाध्यक्षो का काम शराब माफियाओं से रुपए वसूली करना रह गया है, उन्होंने कहा कि सरकार तत्काल बगहा-नरकटियागंज डीएसपी तथा संबंधित थाना प्रभारीयो को बर्खास्त करें। माले नेता ने कहा कि दफादार को निलंबित करनें का नाटक बंद होना चाहिए। सुनील कुमार राव ने कहा कि यह जगजाहिर हो चुका है कि नीतीश सरकार की पुलिस औंर सफेदपोश नेताओं का शराब माफियाओं के साथ साठगांठ हैं। प्रतिमाह शराब माफियाओं से लाखों करोड़ों रुपए थाना को दिया जा रहा है। जनता के विरोध का कोई मतलब नहीं रह गया है, माले नेता ने कहा कि 19 जुलाई 21 को तीनों अनुमंडल मुख्यालय पर प्रदर्शन कर उपर्युक्त मांग को दुहराने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि शराब पीने से हुई मौत, नीतीश सरकार की रची गई हत्याकांड है, जिला प्रशासन सभी प्रकार से दवाब बनाकर मामला दबाने में लगी है। सरकार मुंह नहीं खोल रही, कार्रवाई के नाम पर गरीबों को जेल में बंद किया जाया जाता हैं, शराब माफियाओं को बचाने के तमाम उपाय किया जा रहा हैं ,इस लिए दोषी पुलिस पर मुकदमा चलाने की मांग किया। उपर्युक्त जानकारी भाकपा नेता सुनील कुमार यादव  ने दी।

रिपोर्ट – रविश कुमार