August 12, 2020

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

अपराधियों ने किया वार्ड सदस्य को गला रेत कर हत्या, एक महिला सहित चार गिरफ्तार

बिहार/बैरगनिया (सीतामढ़ी)। थाना क्षेत्र के पचटकी राम गांव के वार्ड सदस्य मनोज राय को धारदार हथियार से प्रहार कर अपराधकर्मियों ने मौत के घाट उतार दिया है। घटना गुरुवार की रात की है। वार्ड सदस्य का शव शुक्रवार की सुबह उनके घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर एक पोखर के पास से बरामद की गयी। गांव में उस समय सनसनी फैल गई जिस समय ग्रामीणों ने अहले सुबह देखा कि वार्ड सदस्य का शव गांव के पोखर से 100 मीटर की दूरी पर पड़ा था। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर थानाध्यक्ष अमिता सिंह, सहायक अवर निरीक्षक चंद्रशेखर सिंह, एसएसबी के इंस्पेक्टर दीपक कुमार दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की तहकीकात में जुट गए।

एसएसबी के द्वारा स्नीफर डॉग की मदद से पुलिस कातिलों का सुराग ढूंढती रही, अंततः स्नीफर डॉग के द्वारा की गई खोजबीन के आधार पर ही पुलिस छापेमारी कर एक महिला समेत चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। मृतक वार्ड सदस्य की पहचान थाना क्षेत्र के पचटकी जदू पंचायत के पचटकी राम गांव वार्ड नं तीन निवासी स्वर्गीय प्रेम राय के 40 वर्षीय पुत्र मनोज राय के रूप में की गई है। परिजनों ने बताया कि मनोज राय रात के खाना खाने के बाद घर से बाहर टहलने निकले थे, परंतु वह रात में नहीं लौटे, रात में काफी खोजबीन की गई , सुबह ग्रामीणों के हल्ला करने पर उनका शव पोखर के पास एक गली से बरामद हुई। मृतक अपने पीछे दो पुत्र व एक पुत्री छोड़ गए हैं। घटना से पत्नी,पुत्री समेत अन्य परिजनों का रो-रोकर हाल बुरा है। पत्नी मुन्नी देवी तो रो-रो कर बार-बार बेहोश हो जा रही थी, इस घटना से पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया है। ग्रामीणों ने बताया कि मृतक वार्ड सदस्य के पद पर होते हुए राजमिस्त्री का भी कार्य करता था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम कराने के बाद दाह संस्कार हेतु शव परिजनों को सौंप दिया है। घटना की सूचना मिलते ही क्षेत्रीय विधायक अमित कुमार टुन्ना मृतक के घर पहुंच कर परिजनों को सांत्वना दी और आर्थिक मदद के तौर पर ₹25000 भी देने की घोषणा की। साथ ही प्रशासन से आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। बहरहाल प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 4 घंटे के अंदर 4 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार घटना के पीछे गांव के ही शराब माफियाओं का हाथ होना बताया जा रहा है। थानाध्यक्ष ने बताया कि हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ जारी है।

रिपोर्ट – विश्वनाथ प्रसाद