August 15, 2020

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

अंतिम साँस तक न्याय के लिए लड़ेंगी उद्यमी की विधवा, किया आमरण अनशन शुरू

पटना– पिछले साल हुए चर्चित हत्याकांड में भोरे के युवा उद्यमी रामाश्रय सिंह की हत्या कर दी गयी थी. एक वर्ष पश्चात भी उनके हत्यारे अब तक गिरफ्तार नहीं हुए हैं. उद्यमी का परिवार लगातार पुलिस प्रशासन से गिरफ्तारी की मांग कर रहा है लेकिन उन्हें केवल निराशा ही हाथ लगी है. इसीकारण, पिछले दो महीनों से पीड़ित परिवार लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहा है.  6 जुलाई से रामाश्रय सिंह की विधवा सुनीता देवी ने आमरण अनशन की प्रतिज्ञा ली है और वह उनके ही गउदाराम कोल्ड स्टोरेज के परिसर में अनशन पर बैठ गयी हैं. उनका कहना है कि जबतक मेरे पति के हत्यारे गिरफ्तार नहीं हो जाते, मैं अनशन करती रहूंगी, चाहें मेरा प्राण ही क्यों ना निकल जाए. मैं सबके सामने हाथ जोड़ चुकी हूँ, न्याय के सारे दरवाज़े खटखटा चुकी हूँ लेकिन मेरे पति को इंसाफ मिलना तो दूर उनके कातिल पकड़े तक नहीं गए हैं. वह सब राजनीतिक पहुँच के लोग हैं और उसी का फायदा उठाकर बचते आ रहे हैं. पुलिस-प्रशासन और सरकार कुछ नहीं कर रही है.

बता दें कि पिछले दो महीनों में रामाश्रय सिंह की पत्नी, बच्चे और भाई हरिनारायण सिंह ने कई मौकों पर आंदोलन किये हैं. कैंडल मार्च, मशाल जुलूस, पुलिस को चूड़ी भेंट, प्रभात फेरी और जल सत्याग्रह जैसे विरोध प्रदर्शन कर अपनी बात देश भर में पहुंचाई है. कई राष्ट्रीय मीडिया संस्थानों ने इनकी आवाज़ को मुखर किया है. पीड़ित परिवार को जनता का भरपूर समर्थन भी मिला है मगर प्रशासन की तरफ से ना कोई कार्रवाई की गयी है और ना ही कोई अधिकारी कार्रवाई करने का दिलासा देने भी आया है.

व्यवसायी को इंसाफ दिलाने के लिए चल रही इस मुहीम में प्रतिदिन शाम को 7 बजे मशाल जुलूस भी निकाला जाना है, जिसकी अगुआई उनके बड़े भाई हरिनारायण सिंह कुशवाहा करेंगे।

गौरतलब है कि साल 2019 में 13 जून की दोपहर को अपने ही निर्माणाधीन पेट्रोल पम्प पर व्यवसायी की हत्या कर दी गयी थी. उनके भाई द्वारा नामज़द आरोपितों में भोरे के कुछ प्रभावशाली व्यक्ति भी थे, जो अबतक कानून के चंगुल में नहीं आ पाए हैं जबकि हाईकोर्ट ने सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के स्पष्ट आदेश दिए हैं. आजकल, पूरा गोपालगंज क्षेत्र ही हत्या और रंगदारी की घटनाओं से बेहाल है. यह पुलिस प्रशासन की नाकामी ही दर्शाती है.