September 17, 2021

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

जदयू जिलाध्यक्ष के भाई की हत्या में शामिल पांच अपराधी गिरफ्तार

समस्तीपुर |  पूर्व सांसद एवं जदयू जिलाध्यक्ष अश्वमेघ देवी के भाई एवं सीएसपी संचालक सुनील कुमार हत्याकांड मामले में पुलिस ने शनिवार को घटना में शामिल पांच अपराधियों एवं पूर्व में गिरफ्तार चार अपराधियों सहित कुल 9 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार सरायरंजन थाना क्षेत्र के झगड़ा गांव में बीते 7 जून को हथियारबंद अपराधियों ने सरायरंजन थाना क्षेत्र के वाजितपुर निवासी राजेश्वर महतो के पुत्र एवं सीएसपी संचालक सुनील कुमार का रुपये से भरा बैग लूट के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।जिससे पूरे जिले में सनसनी फैल गई थी। सीएसपी संचालक सुनील कुमार उजियारपुर के पूर्व सांसद एवं जदयू जिलाध्यक्ष अश्वमेघ देवी के भाई थे। मृतक सुनील कुमार सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का सीएसपी चलाते थे।घटना के दिन वे बैंक से ₹3 लाख 60 हज़ार निकालकर अपने घर जा रहे थे उसी क्रम में अपराध कर्मियों द्वारा घटना को अंजाम देने के बाद उनसे सारा पैसा लूट लिया गया और लूट के दौरान विरोध करने पर उनकी हत्या कर दी गई थी।इसके बाद पुलिस अधीक्षक मानव जीत सिंह ढिल्लों के नेतृत्व में त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस एक सप्ताह के अंदर ही चार अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया था एवं अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही थी।

 

जिसके बाद आज पुलिस की टीम ने पांच अन्य अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया।वहीं इस मामले में कुल 9 अपराधियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। गिरफ्तार अपराधियों की पहचान उजियारपुर थाना क्षेत्र के चांदचौर डीह निवासी ब्रज भूषण चौधरी के पुत्र शुभम कुमार चौधरी एवं शम्मी उर्फ राजेश चौधरी,चांदचौर डीह निवासी शंभू झा के पुत्र रामलाल झा,चांदचौर डीह निवासी शंभू झा के पुत्र आनंद मोहन झा उर्फ मोहन झा एवं सरायरंजन थाना क्षेत्र के झखड़ा गांव निवासी राम शगुन झा के पुत्र प्रदीप झा के रूप में की गई है।गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ के दौरान पुलिस को कई अहम जानकारी मिली है।घटना के संबंध पुलिस टीम को पूछताछ के दौरान यह जानकारी मिली है कि घटना की पूरी योजना अपराधी प्रदीप झा द्वारा बनाई गई थी।वह झखड़ा गांव का निवासी है तथा दो बैंकों का सीएसपी संचालक है एवं अपराधियों को मृतक के बारे में रुपए लाने ले जाने के बारे में सभी जानकारी थी।प्रदीप झा द्वारा ही अपने ममेरे भाई एवं मुफस्सिल थाना के ग्राम चांदचौर डीह निवासी रामलाल झा के माध्यम से घटना को अंजाम दिलवाया गया था।रामलाल झा पूर्व में अपने इलाज के दौरान प्रदीप झा के यहां एक साल पूर्व में रह रहा था। छः माह से ही इस अपराधी घटना की योजना बना रहा था।इस घटना में शामिल शूटर शुभम कुमार चौधरी तथा आनंद मोहन झा की गिरफ्तारी कर ली गई है।शुभम पूर्व का कुख्यात अपराधी है जिस पर करीब एक दर्जन कांड दर्ज है। वही इस गिरोह के द्वारा वर्तमान घटना के अलावा अन्य कई घटनाओं में संलिप्तता स्वीकार की गई है। जिसमें उजियारपुर थाना क्षेत्र में 12 जुलाई एवं 13 जुलाई को सुबह में टीवीएस अपाचे मोटरसाइकिल छीन ली गई थी।यह बाइक भी पुलिस द्वारा बरामद कर ली गई हैं।

 

रिपोर्ट : नवीन कुमार वर्मा