January 17, 2022

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

छात्रा के साथ गैंगरेप, प्रेमी ने बनाया था गैंगरेप का वीडियो प्रेमी सहित चार गिरफ्तार।

बिहार /समस्तीपुर: बीते शुक्रवार की देर रात विभूतिपुर थाना क्षेत्र के एक नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया था। गैंगरेप की घटना की जानकारी होते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई थी। वही घटना की सूचना मिलते ही त्वरित कार्यवाही करते हुए पुलिस की टीम ने घटना में संलिप्त पांच में से चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार विभूतिपुर थाना क्षेत्र के एक नाबालिग लड़की के साथ पांच युवकों द्वारा बीते शुक्रवार 17 सितंबर को देर रात्रि में गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया था। आरोपियों द्वारा गैंगरेप की घटना को सिंघिया बुजुर्ग दक्षिण टोला नवटोलिया के पास रेलवे लाइन के किनारे अंजाम दिया गया था। इस मामले को लेकर पीड़िता द्वारा शनिवार की सुबह में विभूतिपुर थाना में घटना की सूचना दी गई।सूचना के आधार पर महिला थाना में कांड संख्या 77/2021 दर्ज कर पुलिस की टीम द्वारा कार्यवाही शुरू कर दी गई।


गैंगरेप किस घटना को लेकर पुलिस अधीक्षक मानव जीत सिंह ढिल्लो द्वारा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रोसरा शहरियार अख्तर के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। जिसके बाद पुलिस की टीम ने छापेमारी करते हुए रविवार की सुबह घटना में संलिप्त पांच अभियुक्तों में से चार अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार अभियुक्तों की पहचान विभूतिपुर थाना क्षेत्र के कोदरिया गांव निवासी शिवनारायण महतो के 20 वर्षीय पुत्र मनीष कुमार,विभूतिपुर थाना क्षेत्र के सिंघिया बुजुर्ग गांव निवासी बिहारी ठाकुर के 30 वर्षीय पुत्र दिलीप कुमार,विभूतिपुर थाना क्षेत्र के सिंघिया घाट वार्ड संख्या 12 निवासी रामलाल सिंह के 26 वर्षीय पुत्र राम ललित सिंह एवं विभूतिपुर थाना क्षेत्र के शिवनाथपुर वार्ड संख्या 1 निवासी राम जतन सिंह के 23 वर्षीय पुत्र पप्पू कुमार को पुलिस की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है।वहीं इस मामले में विभूतिपुर थाना क्षेत्र के सलखन्नी गांव निवासी स्वर्गीय राम प्रकाश महतो के 40 वर्षीय पुत्र कैलाश महतो अभी भी फरार चल रहे हैं।वहीं पुलिस की टीम द्वारा जांच में यह स्पष्ट हुआ है कि विभूतिपुर थाना क्षेत्र के सलखन्नी गांव निवासी प्रकाश महतो के पुत्र कैलाश सलखन्नी जो इस मामले में फरार हैं उसका एक लंबा अपराधिक इतिहास भी है।पुलिस की जांच में यह पता चला है कि पीड़िता एवं मनीष कुमार पूर्व परिचित थे एवं विश्वकर्मा पूजा के दिन मनीष कुमार पीड़िता को घुमाने लेकर रोसरा गया था।लौटने के क्रम में दिलीप ठाकुर कैलाश महतो के द्वारा रोसरा विभूतिपुर सीमावर्ती क्षेत्र के पास इन दोनों को रोक लिया तथा दिलीप के द्वारा राम ललित सिंह एवं पप्पू कुमार को भी बुला लिया गया और पीड़िता को घटना स्थल की ओर ले जाकर उसके साथ सभी द्वारा पीड़ित के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। राम ललित सिंह के द्वारा पप्पू के मोबाइल से मनीष कुमार के द्वारा पीड़ित के साथ दुष्कर्म किए जाने का एक वीडियो भी बनाया गया है।अभियुक्तों की गिरफ्तारी में विभूतिपुर थाना के पुलिस पदाधिकारी एवं अनुसंधान कर्ता की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस की टीम ने 24 घंटे में मामले का उद्भेदन करते हुए पांच में से चार आरोपियों को गिरफ्तार गिरफ्तार कर लिया है।अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रोसरा शहरियार अख्तर के नेतृत्व में विभूतिपुर थाना के राजीव लाल पंडित, नवीन कुमार, सकलदीप प्रसाद, दिनेश कुमार सिंह एवं महिला थाना के वशिष्ठ कुमार ने उत्कृष्ट कार्य करते हुए अपनी अहम भूमिका निभाई।

संवाददाता : नवीन कुमार वर्मा