January 17, 2022

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

27 सितम्बर को ऐतिहासिक भारत बंद का आह्वान,वीरेंद्र गुप्ता सिकटा विधायक।

 

नरकटियागंज :- तीनों कृषि कलाकानून,नया बिजली बिल,चार लेबर कोड आदि को खारिज करने,देश की संपत्ति को बेचने के खिलाफ सहित,लालशरण रोंग से बर्बाद गन्ना का मुआवजा,बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में टूटी-फूटी सड़कों की पुनः निर्माण,बाढ़ से बर्बाद धान की बिज का मुआवजा आदि सवालों पर भारत बंद को सफल बनाने को लेकर नरकटियागंज श्रीराम होटल में किसान महासभा एवं गन्ना उत्पादक किसान महासभा के बैनर से संपन्न हुआ।

किसान कन्वेंशन का संचालन किसान महासभा के जिला अध्यक्ष सुनील राव, किसान महासभा जिला सचिव इन्द्र देव कुशवाहा,राजद पंचायती राज प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष विनोद यादव, कांग्रेस नेता सुरेश दूबे,किसान महासभा के नेता सुजायत अंसारी, रामानंद साह ने की।               

किसान कन्वेंशन का उद्घाटन किसान महासभा के राष्ट्रीय उपाध्याय शिवसागर शर्मा ने किया,सभा को संबोधित करते हुए शिवसागर शर्मा ने कहा कि देश की खेती बारी को कम्पनीयों के हाथों निलाम करने, किसानों के फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य न देने,गरीबों का राशन बंद करने के लिए सरकारी धान गेहूं की खरीद न करने,जमाखोरी कालाबाजारी कर अनाज व खाद्य वस्तुओ को महंगा करने वाले तीन किसान विरोधी काला कानुन मोदी सरकार ने बनाया है। जिसके खिलाफ देश के किसान साढ़े नौ माह से दिल्ली बोर्डर पर लड़ रहे हैं। आज का यह किसान कन्वेंशन देश के किसानों को गुलाम बनाने वाले तीनो काला कानुन को रद्द करने की लड़ाई को चम्पारण में भी तेज करने का आह्वान किया तथा 27 सितम्बर को ऐतिहासिक भारत बंद को सफल बनाने की अपील की।एवं सड़क,रेलवे स्टेशन,बैंक, हवाईअड्डा,स्कूल,कालेज,अस्पताल, जंगल,नदिया,खदानों समेत देश के समस्त संसाधनों की कम्पनीयों को गिरवी रखने-बेचने का कड़ा विरोध करते हुए मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया।किसान कन्वेंशन एवं बिहार राज्य गन्ना उत्पादक किसान महासभा के राज्य अध्यक्ष सह सिकटा विधायक वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा 2 लाख 40 हजार मीट्रिक टन यूरिया कम आपूर्ति कर धान व अन्य फसलों को नष्ट करने व किसानो को बर्बाद करने का निर्णय किसान विरोधी है,उपर से इस मामले में नितीश सरकार ने यूरिया की कालाबजारी कराकर बिहार के किसानों को बर्बाद करने का काम किया है। केंद्र और बिहार सरकार द्वारा यूरिया

 

संकट पैदा करने की कार्यवाही का आज का किसान कन्वेंशन घोर भर्त्सना करता है। यूरिया की कालाबजारी रोकने की दिशा में बढ़ने के लिए जिला प्रशासन से 4-5 पंचायतों का यूरिया एक चहेते व कालाबजारी करने वाले खाद्य डीलर को देने के बदले सभी पंचायत के खाद्य डीलरों को यूरिया आपूर्ति करने की मांग करते हुए आज का किसान कन्वेंशन कमला इन्टरप्राइजेज और काशी नाथ इन्टरप्राइजेज जैसे कालाबाजारी कराने वाले थोक विक्रेताओं के लाइसेंस रद्द करने बिहार की चीनी मिलों और सरकार ने बिहार के किसानों को CO-0238 प्रभेद जबरन रोपने के लिए मजबूर किया जो बिहार के मिट्टी के लायक नहीं है और बाढ़ व बरसात झेलने की क्षमता नहीं रखता है। चीनी मिलों की इस जबरदस्ती में बिहार के लाखों किसानों को बर्बाद कर दिया है।बिहार सरकार शर्म करे और CO-0238 प्रभेद को प्रतिबंधित करे। इन तमाम सवालों को लेकर भारत बंद का आह्वान किया गया है जिसकों हर हाल में सफल बनाने का संकल्प लिया गया।

 

आगे पढ़े :सड़क हादसे में हुआ एक अधिवक्ता की मौत , मौत के बाद परिजनों में छाया मातम |

रिपोर्ट:- नरकटियागंज से चन्दन कुमार की