August 15, 2020

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

सिविल सर्जन द्वारा मॉडल लेबर रूम का किया गया उद्घाटन

 

• अब गर्भवती महिलाओं को मिल सकेगी और बेहतर सुविधा
• लक्ष्य प्रोग्राम के गाईडलाइन तहत किया गया नवीनीकरण
• नवीनीकरण में यूनिसेफ व केअर इंडिया का मिला है सहयोग

पूर्णियाँ : 17 जून _पूर्णियाँ जिला के कसबा प्रखंड के प्राथमिक अस्पताल में मॉडल लेबर रूम का उद्घाटन जिला सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा द्वारा किया गया. उद्घाटन समारोह के दौरान सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा ने कहा लक्ष्य प्रोग्राम के अनुरूप प्राथमिक अस्पताल, कसबा में प्रसव कक्ष का निर्माण किया गया है. अब यहाँ आसपास की महिलाओं के लिए अच्छा प्रसव सुविधा हर समय उपलब्ध रहेगा. पूर्णतः वातानुकूलित प्रसव कक्ष में चौबीसों घंटे अच्छी सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी.

अत्याधुनिक सुविधाऐं रहेंगी उपलब्ध :
पीएचसी कसबा के एमओआईसी डॉ. ए. के. सिंह के कहा मॉडल लेबर रूम(प्रसव कक्ष) में सभी अत्याधुनिक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई है. पूर्णतः वातानुकूलित प्रसव कक्ष में 4 लेबर बेड लगाए गए हैं, इससे एक साथ चार प्रसव आसानी से कराया जा सकता है. इसमें प्रसव के दौरान होने वाले सभी जरूरी चिकित्सकीय सुविधायें भी उपलब्ध कराई गई है. प्रसव कक्ष के साथ ही गीजर व बाथरूम को भी अटैच किया गया है. नवजात बच्चे की देखभाल के लिए प्रसव कक्ष में ही नवजात शिशु गहन इकाई लगाया गया है साथ ही रेडिएंट वार्मर व ऑक्सिजन कंसनटेटर की भी सुविधा उपलब्ध कराई गई है.

लक्ष्य प्रमाणीकरण के लिए भेजा जाएगा प्रसव कक्ष :
यूनिसेफ के एसएमसी मुकेश गुप्ता ने बताया जिला में सदर अस्पताल, पूर्णियाँ के लेबर रूम व ऑपरेशन थियेटर और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बनबनखी के लेबर रूम को भारत सरकार द्वारा जारी किए गए लक्ष्य प्रोग्राम के तहत राष्ट्रीय स्तर पर प्रमाणित किया जा चुका है व उसे पुरस्कृत भी किया गया है. जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कसबा व भवानीपुर में लक्ष्य प्रोग्राम के अनुरूप लेबर रूम बनाया गया है व दूसरे चरण में इसे प्रमाणीकरण के लिए भेजा जाएगा. भवानीपुर स्वास्थ्य केंद्र में लेबर रूम पहले से संचालित है. दोनों जगह लक्ष्य प्रोग्राम के अनुसार सभी आठ प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है जिसमें सर्विस प्रोविजन, पेशेंट राइट्स, इनपुट्स, सपोर्ट सर्विस, क्लीनिकल सर्विस, इंफेक्शन कंट्रोल, क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम व आउटकम का ध्यान रखा गया है. उन्होंने बताया कि लक्ष्य प्रमाणीकरण के लिए उपलब्ध सुविधाओं को 300 चेकज पॉइंट्स पर परखा जाता है. ज्ञात हो कि लक्ष्य प्रोग्राम द्वारा सदर अस्पताल, पूर्णियाँ के लेबर रूम व ऑपरेशन थिएटर को प्लेटिनम व प्राथमिक अस्पताल बनबनखी के प्रसव कक्ष को गोल्ड पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है.

यूनिसेफ व केअर के सहयोग द्वारा किया गया है नवीनीकरण :
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कसबा व भवानीपुर के मॉडल लेबर रूम को नवीनीकरण करने में यूनिसेफ व केअर इंडिया द्वारा सहयोग किया गया है. यूनिसेफ द्वारा कक्ष में उपलब्ध सभी वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई गई है जबकि केअर इंडिया द्वारा तकनीकी सहयोग उपलब्ध कराई गई है. इन दोनों स्वास्थ्य केंद्रों पर गुणवत्ता पूर्ण सुविधा उपलब्ध कराने के लिए संबंधित एएनएम को क्रॉस लर्निंग हेतु बनबनखी भेजा जाएगा व इन्हें प्रशिक्षित कर गर्भवती महिलाओं को गुणवत्तापूर्ण सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी.

गर्भवती महिलाओं को मिल सकेगी बेहतर सुविधा :
मॉडल लेबर रूम के उद्घाटन से अब आसपास की आम गर्भवती महिलाओं को पहले से और भी ज्यादा बेहतर सुविधाएं मिल सकेंगी. यहां चौबीस घंटे सुविधा उपलब्ध होगी जिससे किसी गर्भवती महिला को किसी प्रकार की समस्या से नही गुजरना पड़ेगा. प्रसव कक्ष में ही नवजात शिशुओं के लिए भी सुविधाएं उपलब्ध है जिससे कि नवजात शिशुओं को जरूरत के अनुसार इलाज कर उनके मृत्यु दर को बहुत हद तक कम किया जा सकता है.

उद्घाटन समारोह के दौरान जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ. आर.पी. मंडल, जिला कार्यक्रम प्रबंधक ब्रजेश कुमार सिंह, जिला मूल्यांकन पदाधिकारी, यूनिसेफ से एसएमसी मुकेश गुप्ता, शिव शेखर, केअर इंडिया से डिटीएफ डॉ. देवव्रत महापात्रा, डीपीओ चंदन कुमार, चिकित्सा पदाधिकारी एम.के.झा व के.एम.दास, बीएम साहिल कुमार, बीएचएम अपराजिता भारती, बीसीएम उमेश पंडित, बीएएम संजय कुमार आदि उपस्थित रहे.