January 17, 2022

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

नरकटियागंज में महाराजा अहिबरन जी की जयंती समारोह का किया गया आयोजन |

 बिहार / नरकटियागंज :-   होटल बोधी-टी में नवयुवक बरनवाल संघ के 45 कार्यकारिणी सदस्यों द्वारा महाराजा अहिबरन जी की जयंती को कोरोना नियमो को ध्यान रखते हुए सीमित रूप से मनायी गयी। जिसमे महाराजा अहिबरन के तैल्य चित्र पर अध्यक्ष राकेश कुमार और संरक्षक सतीश गुप्ता एवं उपाध्यक्ष रंजीत कुमार द्वारा माल्यार्पण किया गया एवं सचिव राजेश कुमार एवं उपसचिव पवन कुमार बर्णवाल द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम के दौरान बरनवाल नवयुवक संघ के सभी कार्यकारिणी सदस्य राजेश बर्तन दुकान, राजेश नत्थु नवीन कुमार, अविनाश कुमार , एवं अन्य उपस्थित रहे संरक्षक सतीश गुप्ता ने कहा की संगठन को मजबूत और सशक्त बनाने के लिए हम सभी सदस्य प्रति वर्ष संघर्षरत रहेंगे।

यह संगठन सशक्त और मजबूत होकर समाज के हित के लिए कार्य करेगा।वही,सुधीर आर्य बरनवाल ने कहा बरनवाल एवं मोदी दोनो एक ही जाति के हैं। अज्ञानतावश ही सही, कहीं कोई बरनवाल शब्द का प्रयोग करते है। ऐसे में कहीं कहीं लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन सब कोई बरनवाल सामूदाय से ही आते है.बुलंदशहर में महाराजा अहिबरन का किला आज भी मौजूद है। कहा जाता है कि धन की देवी लक्ष्मी ने राजा अहिबरन एवं उनके वंशजों को सुख-समृद्धि का आशीर्वाद दिया था अयोध्या के सूर्यवंशी राजा मान्धाता के दो पुत्र गुनाधि एवं मोहन थे मोहन के वंशज वल्लभ और उनके पुत्र अग्रसेन हुए महाराजा अग्रसेन ने अग्रवाल व अग्रहरि वैश्य वंश की शुरुआत की। दूसरे पुत्र गुनाधि के पुत्र परामल और उनके पौत्र अहिबरन हुए महाराज अहिबरन ने बरनवाल समुदाय की नींव रखी वही इस दौरान नरकटियागंज बरनवाल धर्मशाला बनवाने को लेकर चर्चा की गयी ताकि बरनवाल सामूदाय के लोगों को किसी तरह के कार्य करने में परेशानी न हो साथ हीं अध्यक्ष द्वारा विगत एक वर्ष का आय-व्यय का व्योरा प्रस्तुत किया गया। इस दौरान कई वक्ताओं ने जैसे अरचेश कुमार एवं रामु कुमार विपुल कुमार अन्य ने अपना-अपना सराहनीय विचार व्यक्त किया |

नरकटियागंज से रविश कुमार की रिपोर्ट