April 14, 2021

Real News Bihar – Today Breaking News

Aaj Ki Taja Khabar, Samachar

बगहा के चित्रांश परिवार ने पूजा सम्पन्न किया।

पश्चिम चंपारण: जिले के सभी जगह जगह पर कलम दवात के भगवान श्री चित्रगुप्त जी महाराज के पूजनोत्सव के अवसर पर कायस्थ वाहिनी अंतरराष्ट्रीय संस्था के प्रदेश अध्यक्ष अभिजीत सिन्हा की उपस्थिति में बगहा के चित्रांश परिवार ने पूजा सम्पन्न किया।
उल्लेखनीय है कि कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया को यह पूजा की जाती है। चित्रगुप्त देवताओं के लेखपाल हैं और मनुष्यों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा करते हैं। उनकी पूजा के दिन नई कलम या लेखनी की पूजा उनके प्रतिरूप के तौर पर की जाती है। कायस्थ या व्यापारी वर्ग के लिए चित्रगुप्त पूजा दिन से ही नववर्ष का आगाज माना जाता है।
चित्रगुप्त हिंदुओं के प्रमुख देवता माने जाते हैं।
हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, इस दिन अगर चचेरी, ममेरी, फुफेरी या कोई भी बहन अपने हाथ से भाई को भोजन कराए तो उसकी आयु बढ़ती है। साथ ही जीवन के कष्ट भी दूर होते हैं। व्यापारी वर्ग के लोगों के लिए यह दिन नए साल की शुरुआत जैसा है। इस दिन नए बही खातों पर ‘श्री’ लिखकर कार्य प्रारंभ किया जाता है।माना जाता है कि चित्रगुप्त जी का जन्म ब्रह्मा जी के चित्त से हुआ था। इनका कार्य प्राणियों के कर्मों के हिसाब किताब रखना है।
मुख्य रूप से इनकी पूजा भाई दूज के दिन होती है।इनकी पूजा से लेखनी, वाणी और विद्या का वरदान मिलता है। चित्रगुप्त जी का विवाह भगवान सूर्य की पुत्री यमी से हुआ था, इसलिए वह यमराज के बहनोई हैं। यमराज और यमी सूर्य की जुड़वा संतान हैं।कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रिन्स वर्मा ने की।मौके पर प्रिंस वर्मा, अजय श्रीवास्तव , किशन श्रीवास्तव ,चंदन वर्मा , सुजीत वर्मा, अजीत श्रीवास्तव, रामेश्वर श्रीवास्तव , प्रणीत शरण, अभिषेक श्रीवास्तव, मधुरेन्द्र वर्मा, उत्कर्ष वर्मा, संजय श्रीवास्तव , कुमार गौरव आदि लोग उपस्थित रहे।

 

रिपोर्ट निर्भय कुमार